Wednesday, December 7, 2022
Homeपूर्वांचल जिला न्यूजलगातार बढ़ रहा है जलस्तर,दर्जन भर स्कूलों में पानी बढ़ने से पढ़ाई...

लगातार बढ़ रहा है जलस्तर,दर्जन भर स्कूलों में पानी बढ़ने से पढ़ाई ठप, सरयू की बाढ़ से धनघटा क्षेत्र के 18 गांव चपेट में

सरयू की बाढ़ से धनघटा क्षेत्र के 18 गांव मैरुंड हो गए हैं। नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। सरयू खतरे के निशान से सिर्फ 20 सेमी नीचे है। वहीं राप्ती खतरे के निशान से 15 सेमी नीचे स्थिर है। बाढ़ से अवरुद्ध हुए रास्तों के चलते लोगों की मुसीबत में कमी नहीं हो रही है। गांवों में पानी भरने से छत पर खाना बनाने को लोग मजबूर हैं। दर्जन पर स्कूलों में बाढ़ का पानी भरा होने से पढ़ाई ठप हो गई है। आने-जाने वाले रास्ते पर पानी भरा है। नाव लोगों का सहारा बनी है। बाढ़ प्रभावित गांव के लोग खाने और पीने के पानी के लिए मोहताज हो रहे हैं। बिजली आपूर्ति बाधित होने से बाढ़ पीड़ित अंधेरे में रहने को मजबूर हैं।

धनघटा तहसील क्षेत्र के बाढ़ से प्रभावित लगभग 18 गांव के लोगों के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बाढ़ पीड़ितों में तमाम तरह की समस्याएं उत्पन्न हो गई हैं। परिवार के लोगों को व पशुओं को सकुशल निकाल कर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाना पड़ रहा है। उनके रहने और खाने पीने की व्यवस्था करने के साथ-साथ लोगों का स्थानीय एमबीडी बंधा या नात रिश्तेदार या अगल-बगल के लोगों के यहां रहने के लिए विवश होना पड़ रहा है। बाढ़ पीड़ितों का कहना है कि नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण बिजली सप्लाई भी बाधित कर दी गई है। लोगों को अंधेरे में ही रहने के लिए मजबूर हैं। पीने के लिए पानी व खाने के लिए भोजन की व्यवस्था के लिए भी हम लोगों को इधर-उधर झांकना पड़ता है सरकार द्वारा स्थापित बचाव एवं राहत कैंप में केवल खानापूर्ति की जा रही है।

गांव के लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है

18

● बिजली आपूर्ति बाधित अंधेरे में रहने को मजबूर बाढ़ पीड़ित

बाढ़ पीड़ितों ने राहत और बचाव कार्य के लिए किया प्रदर्शन

बाढ़ से प्रभावित गायघाट दक्षिणी, सियर कला आदि गांव के लोगों ने बुधवार को एमबीडी बंधे पर राहत और बचाव कार्य की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने तहसील प्रशासन के ऊपर बाढ़ पीड़ितों के प्रति लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि बंधे पर रह रहे लोगों को तत्काल बरसात व धूप से बचाने के लिए पन्नी की व्यवस्था, जानवरों के चारे की व्यवस्था, के साथ-साथ जरूरी चीजों को उपलब्ध कराया जाए। इस दौरान गुड़िया, कलावती, प्रभावती , उषा, रीता, राजमती, किस्मती, विद्यावती आदि मौजूद रहे।

सांथा ब्लाक मुख्यालय पर पानी भरने से काम प्रभावित

सांथा ब्लाक मुख्यालय पर पिछले सप्ताह से ही बरसात का पानी भरा हुआ है। पूरे ब्लाक परिसर में चारो तरफ पानी भरा हुआ है। इससे कार्य प्रभावित हो रहा है। जल निकासी की उचित व्यवस्था न होने से एक सप्ताह बाद भी ब्लाक परिसर में चारो तरफ पानी भरा हुआ है। जल निकासी की समस्या को लेकर जिम्मेदार पूरी तरह से बेखबर हैं। अभी तक जल निकासी के लिए कोई उचित व्यवस्था नहीं की जा रही है। ब्लाक पर तैनात कर्मचारियों को बीमारी फैलने का डर सता रहा है। ऐसे में काम करने के लिए ब्लाक में आने पर कतरा रहे हैं।

विद्यालयों में पानी घुस जाने के कारण शिक्षण कार्य बंद

बाढ़ प्राभवित के लगभग दर्जन भर विद्यालयों में पानी घुस जाने के कारण शिक्षण कार्य बंद हो गया है। धनघटा तहसील के बाढ़ से प्रभावित प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में घाघरा नदी के बढ़ते जलस्तर से विद्यालयों में पूरी तरह से पानी भर गया है जिसके कारण शिक्षण कार्य ठप हो गया है। प्रावि गायघाट, उच्च प्रावि गायघाट, प्रावि खटहा खैरगाढ़, प्राथमिक विद्यालय भौवापार, प्रावि धमचिया,प्रावि दौलतपुर दक्षिणी, प्रावि चपरा पूर्वी, प्रावि केवटहिया, प्रावि आगापुर गुलरिया में सरयू नदी के बढ़ते जलस्तर के कारण जलमग्न हो गया है।

बाढ़ पीड़ितों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए शासन को रिपोर्ट प्रेषित कर दी गई है। शासन का दिशा निर्देश मिलते ही बाढ़ पीड़ितों की समस्याओं का निदान कर दिया जाएगा। आवश्यकता के अनुसार हर गांव में नाव की व्यवस्था कर दी गई है जिससे लोग अपने घरों से निकलकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंच सकें ताकि किसी प्रकार की कोई अनहोनी या बड़ी घटना ना होने पाए।

ए भी पढ़ें

  • पूर्व प्रधान की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या

  • पौली जर्जर मार्ग की मरम्मत ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

  • लगातार बढ़ रहा है जलस्तर,दर्जन भर स्कूलों में पानी बढ़ने से पढ़ाई ठप, सरयू की बाढ़ से धनघटा क्षेत्र के 18 गांव चपेट में

  • मुकेश अंबानी: India Business tycoon ने $25bn 5G रोलआउट योजना लॉन्च की

source: livehindustan

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments